इंदौरा : गरीब प्रेमलता के लिए सरकार की सभी योजनाए एक सपना
September 29th, 2019 | Post by :- | 485 Views

भदरोया ◆मुकेश सरमाल◆
सरकारें योजनाओं अोर बादो का प्रचार प्रसार तो कई विज्ञापनो रैलियों में करती है लेकिन ये योयनाएं आम आदमी तक कितनी पहुंचती है इसका अंदाजा आप उपमंडल इदौरा के अन्तर्गत आती पंचायत इन्दपूर वार्ड नः 2 की प्रेम लता का हाल जान जाओगे । बता दें प्रेम लता का घर जर्जर अक्स्था में है ओर मकान के साथ लगती गली पक्की होने के कारण बरसात का पानी इनके मकान को गिराने पर तुला है प्रेम लता के पति रमेश चन्द कैंसर की विमारी से पीडित़ थे जिसकी मृत्यु हो चूकी है ।जिस दिन पति की मृत्यु हुई उसी दिन उनकी जवान वेटी भी पानी गर्म करते आग लगने से जलकर कर काल का ग्रास बन गई । अति गरीब अोर आर्थिक तंगी में जीवन व्यतीत कर रहे परिवार अभी बाप वेटी के दुःख से ऊवारा नहीं था कि घर में पढ़ा लिखा बेटा सांप के काटने से मृत्यु को प्यारा हो गया पीडित़ माँ प्रेम लता का कहना हमारी गरीबी के कारण हमारा परिवार हमसे बिछड़ गया क्योंकि हमारे पास सही उपचार के लिए पैसों की बहुत तंगी थी लेकिन सरकार ने आज तक हमारी कोई मदद नहीं की हमारा नाम बीपीएल में तो है लेकिन उसका आज तक हमें कोई फायदा नहीं हुआ ना ही तो हमें सरकार की तरफ से उज्जवला योजना के तहत गैस और ना ही सुलभ शौचालय योजना मिली है पीड़िता प्रेमलता का कहना है की मैं और मेरा एक बेटा बचा है क्या प्रशासन और सरकार उसके और मेरे ऊपर घर गिरने के कारण हमारी मृत्यु के बाद जागेगी सरकार ।

—————पैसे के अभाव में मृत्यु हुई परिवार की
मेरे पति रमेश चन्द कैसंर की विमारी से ग्रस्ति थे गरीबी के कारण घर का गुजारा भी मुश्किल था इलाज ना होने से पिता का छाया बच्चों के सिर से उठ गया जिस दिन मेरे पति की मृत्यु हुई उसी दिन पानी गर्म कर रही जबान वेटी की स्टोव का फटने से मृत्यु हो गई हमारे पास साधन नही था कि उसको हास्पताल पहुचां सके जब उसको हास्पताल पहुंचाया तब तक देर हो गई थी एक ही दिन जली बाप वेटी की चिताएं।

————सांप के काटने से पढ़ा लिखा बेटा भी काल का ग्रास बना ।
मकान कच्चा होने के कारण घर में आए दिन सांप बिच्छु निकलते रहते है। अोर मैं ओर मेरा वेटा ही जिन्दा बच्चे है एक मेरा छोटा लड़का पढ़ाई में बहुत होक्षियार था शाम के समय उसको सांप ने काट लिया हमारे पास पैसे नहीं थे उसको कहीं उपचार के लिए ले जाएं जब सबुह लेकर जाना था तब तक लड़का मृत्यु को प्यारा हो गया था।

——–सरकार की एक भी योजना परिवार को नहीं मिली ।
जिन योजनाओं का हवाला देकर सरकारें आम गरीब जनता को ठगती है ऐसी कोई भी योजना परिवार को नही मिली है । बहुत धक्के तुक्के लगाकर एक विधवा पेशंन लग पाई है लेकिन आवास योजना के घर की आस आज भी परिवार को आस है।

इंन्दपूर पचांयत प्रधान सोम राज धीमान का कहना है की प्राथमिकता के आधार पर इस परिवार का नाम प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत डाला गया है जब भी इनका नंबर आएगा इनको मकान दे दिया जाएगा

इस संबंध में जब खंड विकास अधिकारी इंदौरा सुशीला शर्मा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि अगर मकान की हालत अधिक जर्जर है तो इसकी मरम्मत के लिए इस परिवार को विभाग की तरफ से 25000 की राशि दी जा सकती है और फिर 5 साल तक मकान के लिए यह परिवार अनुदान नहीं ले सकता है अगर हम इस परिवार को मकान बनाने के लिए पीएम एम ए वाय के तहत डालकर यू टेकिंग हो गई है तो जैसे ही इस स्कीम के तहत मकान पास हो जाएंगे जल्दी ही इस परिवार को अनुदान राशि दे दी

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।