देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि अब पाकिस्तान से यदि बातचीत होगी तो केवल पाक अधिकृत कश्मीर के विषय पर होगी।
August 18th, 2019 | Post by :- | 29 Views

कालका , ( चन्द्रकान्त शर्मा )

यह बात आज पंचकूला जिले के कालका में रक्षा मंत्री ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अगुवाई में 90 विधानसभाओं में जाने वाली जन आशीर्वाद यात्रा का शुभारंभ करने के दौरान कही।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान से यदि बातचीत होगी तो तभी होगी जब तक पाकिस्तान आंतकवाद को संरक्षण देना बंद नहीं करता। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान भारत को अस्थिर करना चाहता है, परंतु हम भारत माता का मस्तिष्क झुकने नहीं देगें। उन्होंने कहा कि यदि भारत-पाकिस्तान के बीच कोई बातचीत होगी तो केवल आंतकवाद और पाक अधिकृत कश्मीर पर होगी। उन्होंने कहा कि पुलवामा घटना का जबाव देश के 56 इंच का सीना रखने प्रधानमंत्री ने दिया और हम ईंट का जवाब पत्थर से देंगें।

उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के एक ब्यान का हवाला देते हुए कहा कि इमरान ने कहा था कि भारत बालाकोट में की गई एयर-स्ट्राईक से बडी स्ट्राईक करने का सोच रहा है, इससे साफ हो गया कि बालाकोट में भारत ने एक प्रबल स्ट्राईक की थी। उन्होंने कहा कि विपक्ष राफेल को लेकर हल्ला मचा रहा था लेकिन उन्होंने राफेल को लेने का काम नहीं किया और अब जल्द ही राफेल देश की सेना में होगा और हमें बालाकोट जैसे स्ट्राइक के लिए अपने वीरों को भेजना नहीं पडेगा।

उन्होंने कहा कि जम्मू एवं कश्मीर से अनुच्छेद 370 व 35ए को समाप्त कर दिया और कुछ लोग कहते थे कि अगर इस धारा को छुआ तो दंगे हो जाएंगें। उन्होंने कहा कि भाजपा दंगों के लिए राजनीति नहीं करती बल्कि देश बनाने के लिए राजनीति करती है। उन्होंने वीरों की माताओं को नमन करते हुए कहा कि हरियाणा वीरों की धरती हैं वे हरियाणा के वीरों की माताओं को शीश झुकाकर अभिनंदन करते है।

मुख्यमंत्री को मुझसे बेहतर आप लोग जानते हैं उपस्थित जनसमूह से सीधा संवाद स्थापित करते हुए रक्षा मंत्री ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल का तारीफ की और कहा कि मुख्यमंत्री को मुझसे बेहतर आप लोग जानते हैं, क्योंकि इन्होंने आपके बीच जाकर सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश किया है और जनता ने जो जिम्मेदारी दी थी, उसे वे निभा रहे है। उन्होंने कहा कि जनता के प्रतिनिधियों को अपने कार्य का रिपोर्ट कार्ड जनता के बीच में जाकर प्रस्तुत करना चाहिए, क्योंकि जनता ने उन्हें जिम्मेदारी थी ताकि आने वाले समय में जनता निर्णय ले सकें।

हरियाणा में पिछली सरकारों पर प्रहार करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि हरियाणा में पहले जिन लोगों के हाथ में नेतृत्व रहा, उनको लेकर भ्रष्टाचार की चर्चा रहती थी परंतु अब मुख्यमंत्री मनोहर लाल के बारे में कोई ऐसी चर्चा नहीं हैं और उन्होंने अपनी जिंदगी ही हरियाणा की जनता को समर्पित कर दी और बखूबी हरियाणा सरकार को चलाया है। उन्होंने कहा कि पहले की सरकारों में बिना भ्रष्टाचार के कोई काम नहीं होता था और अब हरियाणा को समाज की सेवा करने वाला फकीर मुख्यमंत्री मनोहर लाल हरियाणा को मिला है। उन्होंने कहा कि मनोहर लाल के व्यक्तित्व में गहराई ओर कृतत्व में ऊंचाई देखने को मिली है।

उन्होंने उपस्थित जनता से अपील करते हुए कहा कि आने वाले विधानसभा चुनावों में जाति का बंधन टूट जाना चाहिए। ईवीएम का बटन दबाने के लिए इंसाफ किया जाना चाहिए क्योंकि हरियाणा में पिछले पांच सालों में 85 हजार करोड रूपए का निवेश हुआ हैं। उन्होंने कहा कि हमने जिंदगी में जो राजनीति की है वो जनता के लिए की है जनता के छल के लिए नहीं, इसलिए जनता की आंखों में आंख डालकर समर्थन हासिल करना चाहेंगें।

राम राज्य को आदर्श राज्य माना जाता है इसलिए राजा ऐसा होना चाहिए जैसा कि राम थे क्योंकि उन्होंने इंसाफ के लिए सीता माता को भी वनवास दे दिया था, यदि हरियाणा में कोई भ्रष्टाचार हुआ होगा और मुख्यमंत्री को पता चल जाएगा तो यह मान लेना कि वह दंड का भागी होगा।

इससे पहले, केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री और हरियाणा विधानसभा चुनाव प्रभारी नरेन्द्र सिंह तोमर ने उपस्थित जनता से कहा कि वे मनोहर लाल जैसे ईमानदार सरकार को दोबारा लाने का काम करें। उन्हेांने कहा कि पिछले पांच सालों में हरियाणा की जनता के लिए बहुत काम किए गए हैं, जितना कि देश में किसी भी सरकार ने नहीं किए हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा में पहले भ्रष्टाचार की चर्चा होती थी लेकिन मनोहर लाल ने संस्कृति ही बदल दी। उन्होंने कहा कि जो संकल्प प्रधानमंत्री, रक्षामंत्री और मुख्यमंत्री ने लिया है उनको पूरा करने के लिए जनता को अपना आर्शीवाद देना चाहिए।